Tuesday, May 23, 2017

क्लाउड कंप्यूटिंग क्‍या है - What is cloud computing in hindi

क्लाउड कंप्यूटिंग - What is cloud computing 

Cloud का प्रचलन IT इंडस्ट्री में जोर पकड़ चुका है | अगर आप कोई बिज़नेस करते हैं - बड़ा या छोटा, तो आपने Cloud के बारे में अवश्य सुना होगा | आइये जानते हैं कि Cloud या Cloud computing या Cloud technology होती क्या है ?

What is cloud computing

Cloud क्या है?

Cloud या cloud कंप्यूटिंग एक ऐसी आधुनिक तकनीक है जिससे आप अपनी IT क्षमताओं का विकास अपनी इच्छा अनुसार या अपने business की जरूरतों के हिसाब से कर सकते हैं और उनको कहीं भी – दफ्तर, घर या छुट्टियों में गए किसी रमणीक स्थल पर इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि क्लाउड किसी नेटवर्क जैसे इंटरनेट के द्वारा प्राप्य है | ये IT क्षमताओं को ‘as a service’ उपलब्द्ध कराता है, जैसे software applications, storage, network, interface, infrastructure आदि |

Cloud से न सिर्फ कर्मचारियों की कार्य क्षमता बढ़ती है अपितु यह काफी किफायती भी होता है |

Cloud के लाभ:

आइये विस्तार से जानते हैं कि Cloud आपके बिज़नेस के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है:

किफायती: ग्राहकों को अपने infrastructure यानि बुनियादी ढांचे या उपकरण में किसी भी निवेश करने की जरूरत नहीं होती है, इसलिए Cloud लंबे समय में बहुत ही किफायती साबित होता है।
इसके अलावा, Cloud का भुगतान आपको सेवा प्रदाता को आपके संसाधनों की मांग के आधार पर ‘pay as you go’ पद्धति के माध्यम से करना होता है | इस तरह ग्राहक कोई अनावश्यक या अतिरिक्त भुगतान करने से बच जाता है और केवल उतना ही पैसा देता है, जितने संसाधनो का इस्तेमाल उसके बिज़नेस द्वारा किया जाता है – कम संसाधन तो कम पैसा और ज्यादा संसाधन तो ज्यादा पैसा।

सुरक्षित : अगर आपका laptop या बिज़नेस phone खो जाये तो आपका critical बिज़नेस data भी उसके साथ चला जाता है और ये आपके लिए किसी भयंकर त्रासदी से कम नहीं होता | लेकिन अगर आपका data Cloud में स्टोर्ड है जैसे OneDrive में, तो आपको डरने की बिलकुल भी जरूरत नहीं है, क्योंकि आप उस तक पहुंच सकते है किसी भी device या मशीन का इस्तेमाल कर के| और आप अपने खोये हुए device में से सारा critical data remotely wipe भी कर सकते हैं | 

कुशलता वृद्धि: Cloud में संसाधनों की इष्टतम क्षमता का उपयोग किया जाता है, इसलिए Cloud समाधान बहुत ही फायदेमंद साबित होते हैं।
Cloud न सिर्फ आपके बिज़नेस की कुशलता बढ़ाता है वरन आपके कर्मचारियों की भी कार्य क्षमता में वृद्धि करता है क्योंकि Cloud applications का इस्तेमाल कर्मचारी न सिर्फ दफ्तर बल्कि कहीं भी बाहर कर सकते हैं – अपनी mails, documents सब कुछ, इसलिए क्लाउड की मदद से सही मायने में ‘office on the go’ साकार होता है|

लोचदार और scalable: चाहे bandwidth हो, storage हो या कोई और संसाधन, सब कुछ ही Cloud में आपके बिज़नेस की मांग के अनुसार बढ़ाया और घटाया जा सकता है | ये hosting के उन पुराने तरीकों से बहुत बेहतर है जिनमें आपको निर्धारित संसाधन दे दिए जाते है और चाहे आप उनका इस्तेमाल करे या न करे, आपको पूरा भुगतान करना ही होता है |

Downtime से बचाव: Cloud एक परस्पर जुड़े हुए servers का जाल होता है | इसलिए अगर कभी भी कोई node fail होती है तो उसका सारा लोड दूसरी Cloud node उठा लेती है, इसलिए आपकी साइट यदि वो क्लाउड सर्वर पर है, या क्लाउड सर्विसेज, कभी भी down नहीं होती|

आपदा प्रबंधन (Disaster recovery): बड़े बिज़नेस आपदा प्रबंधन के लिए अतिरिक्त आईटी संसाधनो का खर्च वहन कर सकते हैं पर ये SMBs के लिए एक अतिरिक्त खर्च ही होता है क्योंकि आपदा प्रबंधन के लिए इस्तेमाल में लाये गए IT संसाधन खाली पड़े रहते हैं कि आपदा के समय उनका इस्तेमाल किया जायेगा | Cloud SMBs को एक कम खर्चे वाला व सुरक्षित disaster recovery mechanism उपलब्ध कराता है |

पर्यावरण से अनुकूलता: Cloud ऊर्जा save करता है और संसाधनो के दक्ष प्रयोग से कम कार्बन प्रतिशत उत्सर्जन करके आपके बिज़नेस को कुशल तकनीकी समाधान प्रदान करता है।

नए प्रयोगों को प्रोत्साहन: अगर आप एक developer, tester या IT इंजीनियर हैं, तो क्लाउड के द्वारा आप अपने प्रयोगों की आसानी से टेस्टिंग कर सकते हैं – बिना live environment को नुक्सान पहुंचाए और ये cloud test infrastructure जिसको टेस्टिंग के अनुसार बार बार बदला जा सकता है, real environment में बदलाव के मुकाबले बहुत किफायती सिद्ध होता है |


What is cloud computing 

cloud storage के बारे में हम आये दिन News और Internet पर पढते रहते हैं, cloud storage एक बहुत ही Usefull facility है, इससे आप अपनी सभी जरूरी files को जैसे Documents, photos, music, videos etc. को Computer के साथ साथ internet पर भी save करके रख सकते हो, यह file दो प्रकार से save की जाती है, Personal and Shared । Personal save की गयी fale को आपके अलावा कोई ना तो कोई edit कर सकता है और ना ही छेडछाड कर सकता है, किन्‍तु Shared files को आप अपने friends और किसी group में convert करने की facility होती जिससे यह advantage  होता है कि यदि आप कोई Project पर work कर रहे हो तो उसे आप अपने group में Easily Shared सकते हो अपनी सुविधानुसार उसे देख सकते हो और उसे convert कर सकते हो एक और facility हमें cloud storage से मिलता कि हमारी files online और offline सेव कर सुरिक्षत रख सकते हैं। साथ ही computer खराब होने पर या उपलब्‍ध न होने पर आप किसी भी जगह, Cyber cafe से या किसी भी Smart Phone से अपनी files को देख सकते है और उन पर काम कर सकते हैं।  

Benefits of Cloud Computing 

सभी files का online व offline backup रहता है ।
files को किसी भी स्‍थान पर open करके काम किया जा सकता है।
files को एक साथ कई स्‍थान पर Share किया जा सकता है।
computer खराब होने की दशा में किसी भी new Computer में files को easily से backup लिया जा सकता है।
files को एक साथ Mobile, computer, laptop, tablet में access किया जा सकता है।
इस facility का लाभ आप free ले सकते हैं।
कोई Additional hardware नहीं लगाना पड्ता है।
use करना बहुत ही आसान है यह एक Computer / Windows Explorer की तरह ही दिखाई देता है।
files को online भी edit किया जा सकता है।
यहॉ सबसे बडा फायदा यह है कि किसी भी size की file को online Share कराया जा सकता है, कोई File Size Limit नहीं होती है, जैसा कि आपको पता होगा कि email के करने के दौरान File attachment 10 MB से ज्‍यादा का मान्‍य नहीं होता है, किन्‍तु इसमें आप किसी भी size की file को online Share करा सकते हो।
कहीं भी घूमने समय अपनी Document को use किया जा सकता है।
यहॉ 5 GB से लेकर 25 GB तक का Data Online Storeकिया जा सकता हैा

How To Use Cloud Computing 
Cloud Computing यूज करने के लिये आपको केवल सम्‍बन्धित Cloud Storage Service उपलब्‍ध कराने वाली Website पर केवल Account बनाना होगा और बस आप कुछ ही Minutes में Cloud Storage Service का लाभ उठा सकते हैं-

Name of websites that provide cloud storage service

Google Drive 
Microsoft Sky Drive 
Yandex.Disk Claudsrvis 
4Sync 
Drop Box

अगर आप Cloud के बारे में और जानना चाहते हैं तो कृपया comments द्वारा संपर्क करे, और आपको हमारा ये लेख – What is Cloud Computing in Hindi  कैसा लगा, वह भी बताइयेगा |

Sunday, May 14, 2017

आज प्लेऑफ के लिए पुणे-पंजाब के बीच 'करो या मरो' का मुकाबला

Pune and Punjab

आईपीएल -10 में रविवार को राइजिंग पुणे सुपरजाएंट और किंग्स इलेवन के लिए 'करो या मरो' का मुकाबला है. पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में होने वाले मैच में दोनों टीमों के पास प्लेऑफ में पहुंचने का यह आखिरी मौका है.

जीतने पर पुणे टॉप-2 में, हारने पर नेट रन रेट का पेंच

पुणे के इस समय 13 मैचों में 16, जबकि पंजाब के 13 मैचों में 14 अंक हैं. यानी पुणे की टीम यह मैच जीतती है, तो वह टॉप-2 में चली जाएगी. अगर पंजाब यह मुकाबला जीतता है, तो उसके 16 अंक हो जाएंगे. ऐसे में पेंच नेट रन रेट पर आकर अटकेगा.

हेड टु हेड

दोनों के बीच अब तक तीन मुकाबले हुए हैं. किंग्स इलेवन पंजाब 2-1 से आगे है.
प्वाइंट टेबल
टीम     मैच
  जीते
हारे
बेनतीजा
प्वाइंट
रन रेट
मुंबई     14
   10
4
0
20
+0.784
हैदराबाद  14
   8
5
1
17
+0.599
कोलकाता 14
   8
6
0
16
+0.641
पुणे      13
   8
5
0
16
-0.083
पंजाब    13
   7
6
0
14
+0.296
दिल्ली    13
   6
7
0
12
-0.514
गुजरात   14
   4
10
0
08
-0.412
बेंगलुरु   13
   2
10
1
05
-1.454


संदीप-मोहित पर पंजाब की निगाहें
गेंदबाजी में पंजाब की टीम काफी हद तक मोहित शर्मा और संदीप शर्मा पर निर्भर करेगी. पंजाब चाहेगी कि मार्टिन गप्टिल अपने अंदाज में बल्लेबाजी करें. मुंबई के खिलाफ पंजाब ने प्रयोग किया था और गप्टिल के साथ ऋद्धिमान साहा को पारी की शुरुआत करने का मौका दिया, जिसे साहा ने बखूबी भुनाया और 93 रनों की पारी खेली.

पुणे को अपने बल्लेबाजों से उम्मीद
पुणे की टीम राहुल त्रिपाठी, स्टीव स्मिथ, अजिंक्य रहाणे, बेन स्टोक्स, मनोज तिवारी, महेंद्र सिंह धोनी जैसे बल्लेबाजों से रनों की उम्मीद करेगी. लेग स्पिनर इमरान ताहिर का स्वदेश लौटना पुणे के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. हालांकि ऑस्ट्रेलिया के एडम जांपा के तौर पर उसके पास ताहिर का अच्छा विकल्प है.

Find Us On Facebook