2021-08-12

What is Keyword and why is it necessary to use for SEO?



दोस्तों स्वागत है आपका मेरे एक आज नए article में। आज का यह आर्टिकल बहुत ही जरूरी टॉपिक के ऊपर लिखा गया है।क्योंकि आज के इस आर्टिकल हम बात करेंगे की keyword क्या है? यह SEO  के लिए जरूरी क्यों हैं?आपने keyword शब्द कहीं न कहीं जरूर सुना होगा।किसी व्यक्ति या फिर किसी ब्लॉगर के मुंह से तो जरूर सुना ही होगा और अगर आप खुद ही एक ब्लॉगर है तो आप तो जरूर जानते ही होंगे।


ब्लॉगिंग आज बहुत से लोगों द्वारा अपनाया जा चुका है।नए–नए ब्लॉगर्स ब्लॉगिंग शुरू कर रहे है। ऐसे में उनके मन में बोहोत सारे सवाल होते है।खासकर keyword को लेकर उसके मन में क्या ज्यादा सवाल उठते है। जैसे कि keyword क्या है?कीवर्ड की परिभाषा क्या है?कीवर्ड के कितने प्रकार होते है?अगर आप भी इन्हीं सभी सवालों का जवाब ढूंढते हुए इस आर्टिकल को पढ़ने आए हो तो आप बिलकुल सही जगह आए हो।


What_is_Keyword_and_why_is_it_necessary_to_ use _for_SEO

SEO friendly article कैसे लिखें?


ब्लॉगिंग tips हिंदी में।


Keyword Research कैसे करें?


आज मैं आपको आपके सभी सवालों के जवाब इसी आर्टिकल के माध्यम से देने वाला हूं।कीवर्ड के बारे में किसी भी नए ब्लॉगर को ज्यादा पता नहीं होता है जिसकी वजह से उसे ब्लॉगिंग में काफी ज्यादा परेशानी आती है।लेकिन मैं आपको बता दूं आपकी आधे से भी ज्यादा मेहनत इस बात पर depend करती है कि आपने किस keyword के ऊपर आर्टिकल लिखा है?


ज्यादातर नए ब्लॉगर किसी भी टॉपिक पर आर्टिकल लिख देते है जिससे उसके आर्टिकल जल्दी गूगल पर ranking हासिल नहीं कर पाते है और यदि रैंक कर भी लेते है तो traffic नहीं आता है। ऐसा इसलिए होता है की वह किसी भी कीवर्ड पर With out Research आर्टिकल लिख देते है जो की SEO के नजरिए से सही नहीं।


Keyword आपके आर्टिकल को rank करवाने, organic traffic पाने और SEO में बहुत अहम भूमिका निभाते है।तो चलिए जानते है कि आखिर keyword क्या है?इसका सही अर्थ क्या है?यह seo के लिए जरूरी क्यों है?मेरा आपसे निवेदन है की आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़िएगा जिससे आपको सारी जानकारी मिल सके और बाद के आपके मन में किसी तरह का कोई भी doubt न रहें।

Keyword क्या है?


ऊपर के लेखों से तो आपको कीवर्ड के बारे में थोड़ा idea मिल ही गया होगा।लेकिन अब हम इसके बारे में पूरी details में जानेंगे।सबसे जान लेने है कीवर्ड का अर्थ क्या है?आखिर कीवर्ड क्या है?


तो इसका जवाब है keyword एक या एक से अधिक शब्दों से मिलकर बनने वाला एक छोटा सा sentence या एक phrase हैं जो की एक topic को describe करने के लिए title में इस्तेमाल किया जाता है। जैसे की “keyword क्या है?” यह sentence एक कीवर्ड है। SEO और blogging की भाषा में इसे ही keyword कहा जाता है।


नए ब्लॉगर के लिए इसे समझना ज्यादा मुश्किल भी नहीं है फिर भी चलिए इसे एक example के जरिए मैं आपको समझता हूं।मान लीजिए की आपको अपने ब्लॉग के लिए एक आर्टिकल लिखना है और उस आर्टिकल का टॉपिक है कंप्यूटर।तो आप इस आर्टिकल को लिखने के लिए google से आपको कम्प्यूटर से संबधित जानकारी चाहिए।


.ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए क्या जरूरी है?


.ब्लॉगिंग क्या है?


इसलिए आप google पर सर्च करोगे कंप्यूटर क्या है? या फिर कंप्यूटर किसे कहते है?आपके द्वारा सर्च इंजन पर की गई यह queries एक phrase या sentence हैं और इसे कीवर्ड कहते है।यह एक single word या फिर एक sentence भी हो सकता है।


यह सभी कीवर्ड है।जिनको एक ब्लॉगर द्वारा अपने आर्टिकल में इस्तेमाल किया जाता है।ताकि कोई भी अगर उस आर्टिकल में इस्तेमाल किए हुए कीवर्ड को google पर सर्च करेगा तो उसका आर्टिकल google पर रैंक करें जिससे उसके ब्लॉग पर traffic आए।आगे के लेख में कीवर्ड के प्रकार के बारे में जानेंगे।


कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं? - Types of Keyword


Basically कीवर्ड दो प्रकार के होते है जिन्हें ब्लॉगिंग में इस्तेमाल किया जाता है।


Short–tail keyword


बात करते है पहले type के keyword के बारे में जो है short tail keyword।Short–tail keyword उन्हें कहा जाता है जिसमें 1 से 3 words शामिल होते है इसलिए यह short tail keyword कहलाते हैं।


इसके कुछ example यह रहें : 


SEO, Keyword क्या है? कंप्यूटर क्या है? आदि, इन कीवर्ड में काफी ज्यादा competition होता है इसलिए इनका इस्तेमाल नए ब्लॉगर को नही करना चाहिए क्योंकि इसे रैंक कराने में बोहोत समय लग जाता है।


Long–tail Keyword


अब जानते है अगले कीवर्ड के बारे में जो की है long-tail keyword।यह ऐसे कीवर्ड होते है जिसमें 3 से ज्यादा words हो।जैसे की ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाएं?घर बैठे पैसे कैसे कमाएं? टॉप 10 बिज़नस आइडिया हिंदी में 2021 आदि।इन सभी कीवर्ड में 3 से ज्यादा शब्दों का उपयोग किया गया है।


मेरी हर नए ब्लॉगर को यही सलाह है की वो कोशिश करें की जितना हो सके उतना long tail keyword का ही इस्तेमाल अपने आर्टिकल में करें क्योंकि इन कीवर्ड पर low competition होता है जिससे रैंक करना आसान होता है।


ज्यादातर users कोई भी queries को google में 1 या 2 words में सर्च नहीं करते है बल्कि पूरा sentence type करते है।इसलिए long tail keyword में organic traffic भी अच्छा मिलता है और इसमें compitition भी कम होता है।इससे आपके आर्टिकल में इस्तेमाल होने वाले short tail keyword भी आसानी से रैंक होंगे।


LSI keyword क्या है - What is LSI keyword ?


LSI का पूरा नाम है Latent Semantic Indexing।इसका अर्थ होता है आपके article या blog post में इस्तेमाल किए गए main कीवर्ड या focus कीवर्ड से मेल खाने वाले similar या related keyword।इससे आर्टिकल को crawl करने वाले किसी भी search engine के robots को यह पता चलता है की आर्टिकल में कौन कौन से रिलेटेड कीवर्ड शामिल हैं। इससे उनको यह विश्वास हो जाता है की आर्टिकल purely किसी एक टॉपिक पर ही लिखा गया है।


LSI keyword से रैंकिंग में आसनी होती है। Example के लिए आपके आर्टिकल का टाइटल है “SEO क्या है?” जैसे ही आप इस title पर आर्टिकल लिखोगे तो सर्च इंजन के robots article में on page seo, off page seo, seo के फायदे आदि जैसे मिलते–जुलते शब्दों को ढूंढेगा जो की title के साथ समानता रखता होगा।


LSI keyword आर्टिकल में उपयोग किए गए keyword और content बीच के relationship को बताता है।Search Engine खुद पता लगा लेता है की similar words का इस्तेमाल आर्टिकल में कितनी बार किया गया है।अगर आप किसी phrase का ज्यादा प्रयोग करोगे तो सही नही होगा इसलिए गलती मत करना सभी कीवर्ड का इस्तेमाल सही से करना और LSI keyword का भी।


Keyword density क्या है ?


क्या आप जानते है कीवर्ड density क्या है? आप शायद इसके बारे में सुना हो।ज्यादातर ब्लॉगर से सुनने को मिलता ही होगा की उसके आर्टिकल में Keyowrd density ज्यादा है।आखिर इसका मतलब क्या है?


लेकिन आपको ज्यादा सोचने की जरूर नही है जानते है इसके बारे में।keyword density का मतलब होता है की आपके आर्टिकल में आपने कीवर्ड का इस्तेमाल कहां–कहां और कितनी बारे किया है।यह बोहोत जरूरी है की कीवर्ड की density हमेशा 1 % से 2% के बीच ही रखें।


अगर कम आप प्रयोग करोगे तो भी सही रहेगा लेकिन इससे ज्यादा अगर आप कीवर्ड का इस्तेमाल करोगे तो कीवर्ड स्टफिंग की problem create हो जायेगा।मैं आपको समझता हूं की कीवर्ड को किस तरह इस्तेमाल करना है।


यदि आपका आर्टिकल 2000 words का तो 1% के हिसाब से आपको पूरे आर्टिकल में सिर्फ 20 बार कीवर्ड का इस्तेमाल करना है और यदि 2% के हिसाब हो तो 40 बार ही कीवर्ड का इस्तेमाल करना है इससे ज्यादा नहीं।अगर इससे ज्यादा बार कीवर्ड प्रयोग करोगे तो आपका आर्टिकल google में रैंक नही करेगा।इसके साथ जितना हो सके long tail keyword का इस्तेमाल ही अपने आर्टिकल में करें।


फॉर्मूला :–


Total Words × keyword density ÷ 100


Eg : 2000 × 1% ÷ 100 = 20 


Ans : Keyword density 20


ठीक इसी तरह आप भी कीवर्ड density calculate करके अपने आर्टिकल में इस्तेमाल कर सकते हो।इस फार्मूले के अनुसार आपको आर्टिकल में लिखे total Words को keyword density से गुणा करने पर और उसे 100 से भाग करने पर आपको कीवर्ड डेंसिटी का पता चल जायेगा।


SEO में कीवर्ड का महत्व क्या है ?


Keyword, On Page SEO  का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है।जब भी कोई ब्लॉगर आर्टिकल लिखता है तो वह अपनी तरफ से उस आर्टिकल को लिख कर ब्लॉग में पब्लिश कर देता है। लेकिन आपने कभी सोचा की आपका आर्टिकल किस बारे में लिखा गया है यह google या किसी भी search engine को कैसे पता चलेगा।


जरा सोचिए ? इसका जवाब है Keyword जी हां कीवर्ड यानी की आर्टिकल में इस्तेमाल किया गया phrase जिसके द्वारा आप अपने आर्टिकल को describe करते हो।जब आप कीवर्ड या फ्रेस के search engine के हिसाब से optimize करते हों तो किसी भी सर्च इंजन को पता चल जाता है की आपका आर्टिकल किस बारे में लिखा गया है।


जब सर्च इंजन को यह पता चल जाता है तभी आपका आर्टिकल SERP यानी search engine result page पर दिखाई देता है। आपका आर्टिकल SERP के किस position पर दिखाई देगा यह इस बात पर depend करता है की आपने कीवर्ड को किस प्रकार optimize किया है और कहां–कहां इस्तेमाल किया है।


हर एक ब्लॉगर चाहता है की उसका आर्टिकल google के सर्च result के पहले पेज पर टॉप 5 या टॉप 10 में रैंक करें।इसके लिए आपको अपने आर्टिकल में कीवर्ड का सही इस्तेमाल करना जिससे यह seo friendly बनेगा और इसके रैंक होने के chances बढ़ जाते है।


रैंक होने पर आपके ब्लॉग पर traffic आयेगा।ट्रेफिक आने से आपके visitor रोज बढ़ेंगे जिससे आपके ब्लॉग की authority भी बढ़ेगी।Domain authority भी समय के साथ बढ़ता जायेगा।


Focus कीवर्ड को पूरे article में अच्छे से place करो और साथ में उसे bold भी कर दीजिए।इसी के साथ आपको SEO में कीवर्ड का महत्व अच्छे से समझ आ गया होगा।आगे हम बात करेंगे की keyword placement कैसे करें?


Keyword placement क्या है, Blog Post में कीवर्ड placement कैसे करें ?


ऊपर के सभी लेखों से आपको कीवर्ड के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा। अब बात करते है keyword placement क्या है और आर्टिकल में इसे कहां–कहां प्रयोग करना चाहिए जिससे आर्टिकल को seo friendly बनाया जाए।


कीवर्ड प्लेसमेंट का अर्थ होता है आर्टिकल में फोकस कीवर्ड और उससे सम्बंधित रिलेटेड कीवर्ड को अपने आर्टिकल में उन जगहों पर प्रयोग जिससे की सर्च इंजन आपके आर्टिकल को अच्छे से crawl करे और सर्च रिजल्ट में टॉप पर लाए।


कीवर्ड प्लेसमेंट ब्लॉगिंग की एक कला है जो आप समय के साथ–साथ ब्लॉगिंग करते हुए सिख जाओगे पर फिलहाल जान लेते है की कीवर्ड को कहां इस्तेमाल करना चाहिए।


→Keyword को title में जरूर रखें।


→Meta description में कीवर्ड का इस्तेमाल करें।


→Image atl text में कीवर्ड का इस्तेमाल करिए।


→आर्टिकल के पहले paragraph में ज्यादा कीवर्ड का  इस्तेमाल करें।


→Heading(H1) और Sub-Heading (H2) में कीवर्ड का इस्तेमाल करिए।


इन सभी जगहों पर आपको कीवर्ड का इस्तेमाल जरूर करना है।


कीवर्ड के फायदे क्या हैं?


दोस्तों मैंने आपको काफी चीजें कीवर्ड के बारे में पहले ही बता दी हैं।इस लेख में अब कीवर्ड के कुछ फायदे के बारे में जाना लेते है।


→Ranking में आसनी।


→Organic कीवर्ड से ज्यादा traffic के chances।


→SERP के टॉप 10 में जगह बनाने आसानी।


→Artcile seo friendly बनेगा।


→On page seo में सहायक।


यह थे कुछ फायदे कीवर्ड के।


Final Words (अंतिम शब्द )

दोस्तों आज के इस आर्टिकल के द्वारा मैने आपको काफी महत्वपूर्ण जानकारी keyword से संबंधित प्रदान की है।आपको इस लेख से कीवर्ड क्या हैं और यह seo के लिए जरूरी क्यों है? का जवाब मिल ही गया होगा।आपको चाहिए की आप keyword research अच्छे से करिए। जितना हो सके long tail keyword का इस्तेमाल करें।


इसी के साथ मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल काफी अच्छी लगी होगी।इससे नए और पुराने सभी ब्लॉगर्स को कीवर्ड से related काफी कुछ सीखने को मिला होगा। अतः आपको यह आर्टिकल को अच्छा लगा होगा तो अपना फीडबैक जरूर दे और इसे शेयर जरूर करें।

कोई टिप्पणी नहीं:
Write टिप्पणियाँ

We have Zero Tolerance to Spam. Cheesy Comments and Comments with 'Links' will be deleted immediately upon our review.

Latest Stories